Moral stories in hindi :एकता में बल : hindi kahaniya

 mastram ki kahaniya 

इस small moral stories in hindi में यह कहानी 3 भाईयो की है , जिन्होंने अपनी एकता की ताकत को पहनकर अपनी सभी मुसीबतो को दूर भगा दिया ।
 इस new stories में तीन भाइयों को मिला के एक कर देने की  बात हुई है ।


moral story in hindi , moral in hindi , story in hindi


यह स्टोरी हमे मिलकर रहना और मिलकर काम करना सीख देती है ।


moral stories in hindi एकता में ताकत होती है ।

एक गावँ में एक किसान था उसके 3 बेटे थे , उसके तीनो बेटी में  बिल्कुल नही बनती थी ।

ओर किसान इस बात सर बहुत खफा था कि कैसे वह इन तीनो को मिला कर एक कर दे ।

राजेश , रवि , महेश , तीनो हमेसा आपस मे झगड़ा करते है ।
 किसी भी काम को मिलकर नही करते थे ।

जब कोई एक किसी काम को करता तो दो उसपर हँसते ओर जब दूसरा करता तो फिर दो उसपर हँसते ।

परंतु उस काम को कभी मिलकर नही करते ।
पर यह भी एक दिन खत्म होना था , ओर इसी दिन का किसान को इतंजार था ।अब वह दिन एक दिन आने वाला था ।
सर्दियों का समय था , बर्फ पड़ने लगी , चारो तरफ 10फुट ऊंची बर्फ पड़ गई , घरो से निकलना मुश्किल हो गया ।


कभी किसान का एक बेटा दरवाजा तोड़ने की कोशिस करता तो कभी
 दूसरा बेटा दरवाजे को तोड़ने की कोशिश करता , पर दरवाजा जाम हो गया था क्यो की बहार से बर्फ पड़ी थी ।
तीनो ने मिलकर बिल्कुल जोर नही मार ।



तब किसान उन्हें देख कर हँसने लग गया । तीनो बेटे परेसान हो गए कि पिताजी हस क्यो रहे है ।
तब महेश बोला पिताजी क्या हुआ आप हस क्यो रहें है ।

तब पिताजी ने एक बात कही बेटा , एकता में बल है ।

महेश चुप हो गया उसकी समझ मे कुछ नही आया ।

अब किसान ने उन तीनों को कहा कि बेटा एक एक लकड़ी हाथ मे लो ओ उसे तोड़ो क्या होता है ।
तीनो ने ऐसा ही किया लकड़ी टूट गई ।


फिर  किसान ने कहा अब दूसरी बार मे 2 लकड़ी उठाओ ओर उसे तोड़ो ।

फिर तीनो ने ऐसा ही किया और थोड़ी ताकत लगाने पर लकड़ी टूट गई ।


अब किसान ने कहा 3 लकड़ी लो और उन्हें तोड़ो , तीनों ने ऐसा ही किया पर कोई भी लकड़ीयो को तोड़ नही सका ।

अब तीनो बेटे समझ गये की यह एकता है , ओर एकता में ताकत है ।


अब उस एकता की ताकत आजमाने की बारी थी । तीनो ने मिलकर एक लकड़ी को दरवाजे पर फसा कर जोर लगा दिया ।

अब दरवाजा टूट कर गिर गया ।अभी भी बर्फ का ढेर लग रखा था ।, अब तीनो ने बर्फ को खोदना शुरू किया और जल्द सभी बाहर आ गए ।
अब सभी समझ गए कि एकता की है और एकता में बल है ।

उसी दिन कस किसान को इतंजार था  अब किसान के सभी बेटे मिलकर काम करने लगे और सफल हुए ।


Small story in hindi - moral

इस moral story in hindi का मोरल है कि एकता में बल है , यदि आप मिलकर काम कर
रहे है तो कोई भी आपको हरा नही सकता, परन्तु आप यदि अलग अलग काम कर रहे है तो आप हार जायँगे ।

इसी लिए मिलकर रहना चाहिए , क्यो की एकता में बल है ।

मुझे उम्मीद है कि आपको यह कहानी पसंद आयी होगी यदि आप ऐसी ही अपने पसंद की कोई new story पढना चाहते है तो आप अपने पसंद के moral को कमेंट करे ।

हम आपके पसंद की कहानी जरूर लिखेंगें ।



Post a Comment

0 Comments