Story | Love story hindi | Breakup Dairy | allstory

 Story - Breakup story in hindi  ब्रेकअप का नाम सुनकर सभी सच्चा प्यार करने वालो कि रूह कांप उठती है । परंतु पता नहीं क्यों प्यार भारी इस दुनिया में भगवान ने ब्रेकअप नाम की चीज बना दी । आप यकीन नहीं  मानेंगे कि कभी कभी किसी इंसान के लिए ब्रेकअप के सदमे से बाहर निकलना कितना मुश्किल होता है । ओर यदि वह कोई लड़का हो तो स्थिति ओर भी बिगड़ जाती है । मै खुद एक लड़का हूं ओर मुझे पता है कि ब्रेकअप से बाहर निकलना हम लड़को के लिए कितना मुश्किल होता है । मै नहीं जानता कि  सभी लड़को के लिए होता है या नहीं परंतु मेरे लिए ब्रेकअप से बाहर निकलना बहुत ही मुश्किल हो गया था । आखिर मेरे प्यार आठ साल पुराना था , तो आप सोच ही सकते हो कि केसे मै इस गम से उभर पाया हूं।  The Breakup Dairy - breakup story in hindi  मेरे प्यार की कहानी की कहानी को आठ साल हो चुके थे , हम दोनों ने बहुत सारे सपने बुन लिए थे कि हम दोनों जिंदगी भर एक दूसरे के साथ रहेंगे ओर अब हमारी शादी का प्लान था । परंतु यह ब्रेकअप नाम का साया मेरे रिलेशनशिप को ले डूबा । मैने कभी ब्रेकअप के बारे में नहीं सोचा था ओर ना ही कभी सोचूंगा ओर अब

Desi kahani : प्यार का अंत : antarvasna : moral stories in hindi

 desi kahani : antarvasna


यह  moral stories in hindi , एक desi kahani , प्यार का अंत हमारे आज कल के जीवन पर आधारित है ।जिसमे हम आपको एक hindi stories के जरिये आपको प्यार का मतलव बता रहे है ।


Antarvasna, moral stories in hindi, fairy tales in hindi, moral story, hindi story

यह एक moral stories भी है , जिसमे हम प्यार , रिश्ते  का  महत्व समझ रहे है ।

यदि आप प्यार की एक कहानी पढना चाहते है तो यहां पढ़ें ।

Pyar ki ek kahani click hear.


इस कहानी का पात्र काल्पनिक है परन्तु  यह  जारी रियल लाइफ से जुड़े है । इस कहानी में  एक लड़का जो लड़की से बहुत प्यार करता था ,

 परंतु  उसका प्यार समय के साथ साथ , हवस , ओर antervasna में बदल गया ।
 उनके रिश्ते में छोटे छोटे  झाड़गो  ने उसका रिश्ता खत्म कर दिए ।


वह दोनों आपस मे बात करते परंतु   उसके बीच मे छोटी बात पर लड़ाई होती और वह लड़ाई बातो का अंत होती ।
ओर जब वह लड़का लड़की को समझता तो वह उसे ब्लॉक कर देती । इससे उसका रिश्ता बिल्कुल खत्म हो गया ।


Moral stories in hindi :  Desi kahani :  प्यार का अंत : antarvasna



चलिए आपका  समय खराब न करते हुए कहानी को शुरू करते है ।

एक छोटे से शहर में  राकेश नाम का एक लड़का रहता था , अभी  राकेश कक्षा 10 में पढ़ता था ,वह अपनी की क्लास की एक लड़की , मानसी को पसंद करता था ।

मानसी पढ़ने में बहुत अच्छी थी , वह किसी से भी ज्यादा बात नही करती थी । ओर राकेश  को उसकी यह आदत ही अच्छी लगती थी ।


राकेश एक दकियानूसी इंसान था , उसे ऐसी लडकिया अच्छी लगती थी जो किसी भी लड़के से ज्यादा बात नही करती थी ।
ओर जिस भी लड़की  के बारे में  वह ऐसी बाते सुनता  वह उस लड़की को बुरा भला कहता , इसी वजह से  राकेश थोड़ा बुरा बन जाता था ।

वैसे राकेश पढ़ाई में बहुत अच्छा था वह भी जैसी सोच रखता , था तो वह ऐसा ही रहा वह भी किसी से  ज्यादा बात नही करता था ।

राकेश को मानसी बहुत पसंद थी , वह उससे बहुत प्यार करता था । जब देखो स्कूल में  मानसी को देखता रहता ।
मानसी  को अपने प्यार के बारे ने बताना चाहता था , परंतु कभी बता नही पाता था ।

एक दिन राकेश स्कूल गया , आज वह सोच समझ कर गया था कि मानसी को दिल की बात बता देगा ।
वह दिन भर मानसी के साथ बात कर  रहा था ।

तब मौका देख कर राकेश मानसी से बोला कि  देखो मानसी में तुम्हारा दोस्त हूँ , पर में तुम्ह बहुत प्यार भी करता हूं ।
क्या तुम मुझसे प्यार करोगी ।  अगर तुम भी मुझे प्यार करती हो तो , यार मुझे बता देना ।

तब राकेश बिना मानसी की बात सुने चला गया । बाद में  राकेश वापिश आया , ओर फिर से पूछने लगा ।
पर मानसी ने उसे कहा कि तुम्हें ऐसा क्यों लगता है कि में तुम्ह प्यार करूँगी ।
पर राकेश ने समझा कि  यह मुझसे प्यार नही करती ,ओर वह वापिस चला गया ।
मानसी भी राकेश को पसन्द करती थी , परंतु राकेश ने पूरी बात नही सुनी , तो मानसी ने भी नही बताया ।

2 साल बीत गए थे राकेश मानसी को हमेशा याद करता था ,  ओर वह उसे अभी भी प्यार करता था , परंतु वह बस मानसी के  हॉ का ििइंतज़ार कर रहा था ।

ओर मानसी दोबारा पूछने का ।
मानसी ने भी राकेश को नही बताया कि वह उसे प्यार करती है  ।
एक दिन उनकी एक शादी  मुलाकात हुई , राकेश ने मानसी से  बात की ओर, उसे अपना मोबाइल नंबर दे दिया ।


घर जाकर मानसी ने राकेश की कॉल की ओर वह बाते करने लगे । फिर कुछ दिन बात राकेश ने मानसी से कहा कि क्या तुम मुझे पसंद करती हो ,मानसी चुप रही ।


तब राकेश बोला कि में तुम्हें 4 साल से प्यार करता हूँ पर तुम मुझे नही करती ऐसा क्यों है ।?

मानसी हँसने लग गई और बोली कि , तुम कितने पागल ही , तुम कभी मेरी बात नही सुनते ,में तुम्हें उसी दिन बोलने वाली थी , परन्तु तुमने बात सुनी ही नही में भी तुम्ह बहुत प्यार करती हूं  ।

राकेश बहुत खुश हो गया , वह अब दिन भर मानसी से बाते करता था , उसकी बातें सुनता था ।

पर अब सब कुछ बिगड़ने वाला था ,मानसी ने नया नया  सोशल मीडिया चलाना शुरू किया , वह उसपर भी राकेश से बात करती थी ।


अब आपको पता है कि मनचले लड़के , सभी लड़कियों को ,सोशल मीडिया पर मैसेज भेजते है , ओर इस ही मानसी के साथ हुआ , ओर यह ही  love story का टर्निंग पॉइन्ट था ।

मानसी को भी एक दिन मेसेज आया , मानसी ने उसके मैसेज का रिप्लाय किया , तो वह अब  मानसी को प्रपोस करने लग गया , मानसी ने उस समय तुरंत उसे ब्लॉक कर दिया ।
अब यह बात मानसी ने राकेश को बताई  ।

राकेश को गुस्सा आया , उसने मानसी को कहा कि तुम्हें अनजान से बात करने की की जरूरत है , क्या तुम्हें अकल नही है कि अनजान लोगों से बात नही करनी चाहिए ।

मानसी ने  राकेश से उस समय माफी मांग ली क्यो की उसे  भी यह बात सही नहीं लगी ।

पर अब राकेश मानसी को किसी भी बात नही करने देता था , मानसी सोचती थी कि यह मुझपर हक जमा रहा है ।

एक दिन रात को मानसी ने राकेश को कहा कि में सो रही हूँ ।और चली गई ।

कुछ देर बात रात को करीब 11 बजे राकेश ने फिर से मानसी को कॉल किया इर उसका फोन व्यस्त आ रहा था ।
राकेश की गुस्सा आ गया ।
 उसने कई कॉल किये पर मानसी ने कॉल भी उठाई । फिर कुछ देर बाद मानसी ने कॉल उठाई ओर कहा क्या बात है क्यो कर रहे हो कॉल।


राकेश गुस्से में था , उसने पूछा इतनी रात की किसकी कॉल है , तब मानसी ने कहा मेरे पड़ोस का एक दोस्त है ।

राकेश ने कहा वाह क्या बात है , तुम्हें उसने अपना नंबर कब दिया , तो मानसी बोली थोड़ी देर पहले सोशल मीडिया पर दिया था ।

राकेश ने मानसी को अपशब्द कहे ओर बोला , जब तुम मुझे बोल कर गई कि में सो रही हूं तो तुम उठी क्यो , उस बात पर उनमे बहुत झगड़ा हुआ ।

अब रोज की यह ही कहानी थी , मानसी जिस इंसान को जानती नही थी उसे भी अपना फोन नंबर दे देती , ओर तब राकेश की उसके साथ बहुत लड़ाई होती ।

राकेश हमेशा मानसी को कहता कि तुम यह काम मत किया करो यह अच्छी बात नही है , तुम ऐसे ही किसी को भी अपना नंबर कैसे दे सकती हो ।

अब फ़िर मानसी राकेश की बात नही मानती , ओर खूब झगड़ा होता ।

एक दिन मानसी को फिर से कॉल आया , ओर वह बात करने लगी । राकेश ने फिर कॉल की पर मानसी ने नही उठती ,  बाद में बार बार कॉल करने के बाद मानसी ने कॉल उठायी ओर कहा क्या हुआ  ।

राकेश ने पूछा कॉल पर कौन था ,
मानसी ने कहा कि मेरा दोस्त है , फिर राकेश ने बोला नाम बता , पर मानसी ने नाम नही बताया , इस बात पर खूब लड़ाई हुई ।

अब राकेश ने मानसी को समझाया कि तुम एसक्यो करती हो , तुम मुझसे  प्यार करती हो तो  मुझसे भी बात किया करो । लोगो से बाते कर के क्या करोगी ।

अब मानसी बोली मुझे लोगों से बात करना अच्छा लगता है ।
अब राकेश गुस्से में आकर उसे गालियां देने लग गया ।

अब रोज जब भी लड़ाई होती , तो राकेश मानसी को बहुत गली देता ।और अब उनकी kahani का the एन्ड होने वाला था ।

ऐसे धीरे धीरे  राकेश  का प्यार antarvasna में बदल गया ।
वह रोज रोज मानसी को गलत बोला , मानसी उसे ब्लॉक कर देती तो वह फिर से प्यार से बात करता ।
मानसी को भी यह बुरा लगता था , परन्तु वह समाझ नही पा रही थी कि क्या हो रहा है  ।।

अब वह भी राकेश की antarvasna वाली बातें सुन कर बोर हो गई ।  
तब मानसी ने ब्रेक अप का  फैसला किया । उसने राकेश से बोला तुम्हारा प्यार अब हवस , ओर अन्तर्वासना में बदल गया है , में अब तुमसे कोई रिश्ता नही रखना चाहती ।

राकेश के दिमाक में शक का कीड़ा था , अब वह बोला तो अब किसके पास जाओगी मुझे छोड़ कर , मानसी बोली कही भी , राकेश बोला मुझे पता था कि तुम एक दिन ऐसा ही करोगी सभी लडकिया ऐसी ही होती है , तुमने लोगो की वजह से अपने प्यार से लड़ाई की अब मुझे भी तुमसे कोई रिश्ता नही रखना  
तब दोनो ने एक दूसरे को ब्लॉक कर दिया , ओर उनकी कहानी वहीं खत्म हो गई ।


 Desi kahaniप्यार का अंत : antarvasna : moral of the stories 



इस desi kahani में अपने देखा कि कैसे उनके प्यार का अंत हो गया  ।
अब उनके stories का अंत लोग थे , जब मानसी लोगो सेबात करती हो राकेश को बुरा लगता यही करना था कि , राकेश मानसी को अपशब्द बोलता ।

ओर मानसी ने इस बात पर लड़ाई की क्योकि राकेश रोजाना उसने ऐसी बातो पर गली देता था ।

इस kahani ka moral यह है कि हमे कभी भी अपशब्द का प्रयोग नही करना चाहिए । अपशब्द बड़े से बड़े रिश्तों को खत्म कर देते है ।
रिश्ते में विश्वास होना चाहिए ।और हमें कभी कभी पार्ट्नर की खुशियों के लिए उसकी बात भी मान लेनी चाहिए ।

मुझे उम्मीद है कि आपको  Desi kahani :  प्यार का अंत : antarvasna : moral stories in hindi यह कहानी पसंद आई होगी । कहानी को शेयर ओर लाइक जरूर करे ।


Read also 

Comments

Popular posts from this blog

mastram ki kahaniya : moral stories in hindi : लालच

Hindi fairy tales : वरदान देने वाली परी : fairy tales in hindi

Top 10 moral story in hindi : panchatantra ki kahaniya : story