Story | Love story hindi | Breakup Dairy | allstory

 Story - Breakup story in hindi  ब्रेकअप का नाम सुनकर सभी सच्चा प्यार करने वालो कि रूह कांप उठती है । परंतु पता नहीं क्यों प्यार भारी इस दुनिया में भगवान ने ब्रेकअप नाम की चीज बना दी । आप यकीन नहीं  मानेंगे कि कभी कभी किसी इंसान के लिए ब्रेकअप के सदमे से बाहर निकलना कितना मुश्किल होता है । ओर यदि वह कोई लड़का हो तो स्थिति ओर भी बिगड़ जाती है । मै खुद एक लड़का हूं ओर मुझे पता है कि ब्रेकअप से बाहर निकलना हम लड़को के लिए कितना मुश्किल होता है । मै नहीं जानता कि  सभी लड़को के लिए होता है या नहीं परंतु मेरे लिए ब्रेकअप से बाहर निकलना बहुत ही मुश्किल हो गया था । आखिर मेरे प्यार आठ साल पुराना था , तो आप सोच ही सकते हो कि केसे मै इस गम से उभर पाया हूं।  The Breakup Dairy - breakup story in hindi  मेरे प्यार की कहानी की कहानी को आठ साल हो चुके थे , हम दोनों ने बहुत सारे सपने बुन लिए थे कि हम दोनों जिंदगी भर एक दूसरे के साथ रहेंगे ओर अब हमारी शादी का प्लान था । परंतु यह ब्रेकअप नाम का साया मेरे रिलेशनशिप को ले डूबा । मैने कभी ब्रेकअप के बारे में नहीं सोचा था ओर ना ही कभी सोचूंगा ओर अब

crime alert story in hindi me , crime stories in hindi, kahani

हत्या - अपराध
 crime alert story in hindi 

me एक दिन अखबार में खबर आई कि एक लड़की का रेप करके उसे जंगल मे मार कर फेंका गया ।

वो भी इतनी बेहराहमी से जैसे किसी इंसान ने नही उसे किसी हैवान ने मारा हो ।



Crime story in hindi
खबर पढते ही दिल ये सोचने पर मजबूर हो गया कि वो लड़की कोन थी ओर उसका यह हाल किसने किया । 

उसके साथ किसी की ऐसी क्या दुश्मनी हो सकती है ।
उसे इतनी बेहराहमी से मारने के पीछे क़ातिल क्रिमिनल का क्या मकसद हो सकता है ।
Crime story in hindi
ये क्राइम की कहानी सच्ची घटना है बस कहानी में पत्रो के नाम ओर जगहों के नाम बदल गए है ।
जो सवाल मेरे दिमाक में चल रहा था वो ही सवाल अब पुलिस के दिमाक में भी था ,

इस लड़की का नाम क्या हैं ?
इस लड़की को किसने मार ?
 इस लड़की को क्यो मारा ?


 ये सवाल पुलिस के दिमाक में भी अब चल रहा था ।
आप चारो तरफ ये ख़बर आग की तरह फैल गई २ ,3 दिन तक लड़की का कुछ नाम पता नही चला ।3दिन बाद लड़की के परिवार को ढूंढ लिया गया वे लोग गांव में रहते थे , जिस वजह से उन्हें अपनी बेटी का पता नही चला ।
लड़की का नाम था अंजलि ।

अंजलि शहर में गांव से दूर नोकरी करती थी ।
जब अंजलि घर नही आई तो अंजलि के घर के मालिक ने भी पुलिस को रिपोर्ट की जिससे अंजलि का गॉव शहर के घर का पता मिला ।
अब 2 दिन पहले पुलिस के पास लाश का नाम ठिकाना का कुछ पता नही था , परंतु अब पुलिस केपास लड़की का नाम और परिवार का पता दोनों था ।

अब तलाश थी उस आरोपी की क्रिमिनल कि ।
आइये आपको crime की इस कहानी की ओर ले चलते है ।

Crime story in hindi - प्यार से मिला धोखा तो ले ली प्रेमिका की जान 

अंजलि एक गांव की लड़की थी । वह अपना 12 कक्षा की पढ़ाई पूरी करने के बाद नोकरी की तलाश में शहर आयी थी ।
अंजलि के पिता महेश एक किसान थे , उसकी माँ कविता भी घर पर ओर खेत पर काम करती थी ।

अंजलि पे परिवार का आय का स्रोत सिर्फ खेती था । 
अंजलि का भाई राहुल अभी 9 कक्षा में पढ़ता था । 
गरीब होने के कारण महेश अपनी बेटी अंजलि को 12 से आगे नही पढ़ा सका ।अब अंजलि नोकरी की तलाश में शहर आ गई । 

शहरों के वातावरण का गांव की लड़की पर अब बुरा असर पड़ना शुरू होने वाला था । 
अभी अंजलि का कोई दोस्त सहेलियों नही थीं । 
वो जॉब की तलाश में थी 
ओर आखिरकार उसे जॉब मिल ही गई और अब वो बहुत खुश थीं ।
उसके साथ जॉब करने वाली लडकिया भी उसकी दोस्त बन गई । अब उसकी लाइफ हर तरह से पूरी थी । अब जरूरत थी तो बस एक प्रेमी की ।ओर वो भी पूरी होने वाली थी ।

शहरों में लड़कियों लड़के देर रात क्लब पर पार्टी करते है शराब पीते है । 
एक दिन अंजलि की सभी सहेलियों ने उसे भी कहा कि हम रात को पार्टी करेंगे । और अंजलि को अपने साथ रात को ले गए । 
वो खूब इंजॉय कर रहे थे पार्टी के बीच अंजलि की एक लड़के से मुलाकात हुई ।
लड़के का नाम था सुरेश ।
अगर सुरेश के चरित्र की बात करें तो वो एक दम खराब । गंदी सोच और दकियानूसी सोच ।
सभी को पता था कि सुरेश अच्छा लड़का ननहीं है ।
परंतु अंजलि उसके जाल में फस गई ।
आते ही सुरेश ने बहुत ही तहजीब से बात की जिसके लिए लड़के ज्यादतर मसहूर है ।अक्षर जब कोई मनचला लड़का किसी नई लड़की से बात करता है तो उसके बात करने का अंदाज इस तरह होता है कि लड़कियां उनकी ओर आकर्षित हो जाती है । 
ओर इसी तरीके को सुरेश ने अंजलि पर अपनाया । फिर क्या था अंजलि उससे प्रभावित हुई । और उसके साथ घुल मिल गई ।

एक दिन कि बात से उन दोनों में बहुत अच्छी दोस्ती हो गई और उन दोनों ने एक दूसरे का फोन नंबर भी एक दूसरे से बदल लिया ।

अब अंजलि को तो सुरेश के बारेमे पता नही था और न ही उसने किसी से पूछने की कोशिस की ।

अक्सर मनचले लड़के अपनी चिकनी चुपड़ी बातो में लड़कियो को फसा लेते है । और बाद में अपना असली रूप दिखाते है । 
अंजलि के साथ भी इस तरह ही कुछ और होने वाला था ।अब रोज अंजलि सुरेश के साथ क्लब जाने लगी । देर रात तक कमरे में आना और शराब पीना भी उसकी आदत बन गया था । 
ओर उनकी कुछ पल की दोस्ती अब प्यार में बदल रही थी । 

अंजलि के साथ कई होने वाला था इसकी उसे भनक भी नही थी ।

अभी तो crime ki यह kahani शुरू हो रही थी ।
अंजलि का विशवास सुरेश के लिए बहुत बढ़ रहा था । वो उसपर पूरा विश्वास करने लग गई थी ।

ओर अब समय था सुरेश के असली रूप को देखने का ।
एक दिन जब अंजलि की ऑफिस से छुटी हुई तो वो चुप चाप बिना सुरेश के बताए उससे मिलने चले गई ।

वो वहां गई जहां वो अक्शर मिला करते थे । 
पर अंजलि ने उस दिन कुछ ऐसा देखा जिससे अंजलि का दिल टूट गया ।

 आइए हम आपके बताते है कि अंजलि ने वहां क्या देखा ।वहां पर पहले से के लड़की थी जिसके साथ सुरेश का कुछ बहुत करीबी नाता था । 
अब उसके जाने का समय था और अंजलि केआने का समय था । तो सुरेश ने उस लड़की को जाने को कहा । 

 अंजलि ने सब कुछ चुप कर देख लिया था । तो जैसे ही सुरेश ने फोन किया तो अंजलि ने फोन स्विच ऑफ कर दिया और वो घर आ गई । 

उसका दिल बुरी तरह से टूट गया वो सोचने लग गई कि वो को थी जिसके साथ सुरेश का इतना गहरा नाता है । 

अब 2 दिन हो गए अंजलि गयाब सी हो गई वो सुरेश से नही मिली और सुरेश उसे ढूंढ रहा था ।
अब दूसरी ओर अंजलि अपने मन मे उठ रहे सवालो का जबाब ढूंढने के लिए उस लड़की का पीछा करने लगी । 
वो लड़की जिसका नाम रागनी थी । वो एक अस्पताल में गई थी । रागनी 3 महीने से प्रेग्नेंट थी । और वो भी सुरेश से शादी करना चाहती थी ।

जब अंजलि को ये सब पता चला तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई ।

अब समय था सुरेश का भंडा फोड़ने का । करीब 7 दिन बाद सुरेश ने अंजलि को देख उसे बहुत गुस्सा आया हुआ था ।
उसने अंजलि का हाथ पकड़ा और उसे किनारे ले गया ।

उससे बहुत सवाल पूछे पर अंजलि को भी बहुत गुसा आया हुआ था तो उसने भी रागनी के बारे में पूछा । सुरेश की बोलती बंद हो गई ।
तब सुरेश ने गुस्से में अंजलि को कहा कि अब अगर तुमने उसका नाम लिया और मुझे कुछ कहा तो मेरे से बुरा कोई नही होगा ।
 इतना सुनते ही अंजलि अपना हाथ छुड़ा कर भाग गई।
अब सुरेश का भंडा फुट चुका था ।
अंजलि ने रागनी से मिलकर उसे भी सब कुछबताय तब अंजलि को सुरेश की हतिकत पता चली ।
उसने जो तरकीब अंजलि पर अपनाई थी वो ही रागनी पर भी अपनाई थी । जिससे वो दोनों फास गये ।
 परंतु रागनी एक बड़ी गलती करचूकी थी । और वो अब प्रेगनेंट थी वे उसके पास सुरेश के साथ रहने के सिवाय कोई और रास्ता नही था ।

परंतु अंजलि का कुछ इस तरह नही किया था जिससे अंजलि चुप चाप निकल गई ।
अभी तक अंजलि के ऊपर से मुसीबत टली नही थी मुसीबत का आना तो तय था ।
फिर एक दिन अंजलि ले साथ कुछ ऐसा हो गया ।
अंजलि देर शाम को ऑफिसse ghar आ रही थी तुभ उसके सामने एक गाड़ी आकर रुकी उसमे सुरेश था । सुरेश तुरत बहार आया और अंधेरे का फायदा उठा कर । उसने अंजलि को किडनैप कर लिया ।

सुरेश ने अंजलि को पकड़ा और उसे क्लोरोफॉर्म सुंघा कर बेहोस कर दिया । और अंजलि को शहर से दूर लेकर आ गया ।
अब अंजलि के साथ कुछ ऐसा कर डाला जिससे अंजलि की जान चली गई ।
अब सबसे पहले सुरेश ने अंजलि को बेहोसी की हालत में बांध दिया । और उसके कपड़े फाड़ कर उसके साथ रेप बलात्कार किया ।
परंतु सुरेश का गुसा इन सुब से शांत नही होने वाला था ।
 उसने फिर बीडी सिगरेट से अंजलि को टॉर्चर किया उसके बदन को जलाया ।
ओर फिर दोबारा रेप किया जिससे अंजलि की मौत हो गई ।
सुरेश बहुत घबरा गया उसे समझ नही आ रहा था कि वो की करे उसने बचने के लिए सबसे पहले अंजलि के id paas सब पहचान वाली चीजे जला दी ।
ओर एक सरिया लेकर अंजलि के प्राइवेट पार्ट पर मारा ताकि जिससे अंजलि के साथ किसने रेप किया यह पता न चल सके ।
फिर सुरेश ने एक नुकीले ओर खुरदरे हतियार से अंजलि चेहरे पर मार जिससे उसकी शक्ल पूरी खराब हो गई ।
।अब सुरेश ने अंजलि की लाश को उठाकर जंगल मे फेंक दिया ।

 जो लाश पुलिस को जंगल मे मिली ।
परंतु पुलिस को अभी तक कातिल का पता नही चला था । बस तलाश है कातिल की ।
पुलिस कातिल की तलाश में शहर अंजलि के घर जा पहुंची । अब मकान मालिक से भी पूछताज हुई । परंतु वो कुछ नही जनता था ।
अब पुलिस अंजलि के आफिस जा पहुंची अब उसकी सहेलियों से पूछताज होनी सुरु हुई ।
एक सहेली के मुंह से सुरेश का नाम निकल गया । और अब सुरेश के पूरी history निकलना बाकी था ।
पुलिस ने सुरेश को ढूंढने की कोशिस की पर वो शहर छोड़ के भाग चुके था ।
अब पुलिस के हाथ साधना लग गई । वैसे तो वो भी कुछ नही जानती थी परंतु उसके पास सुरेश के कुछ और फोन नंबर थे । जिससे सुरेश का पता चल सकता था ।
 पर सुरेश भी कुछ कम नही था । उसने अपने फोन को कुछ दिन पहले स्विच ऑफ कर दिया था और sim फेंक दी ।
दो दिन बाद सुरेश ने न्यू नंबर से फोन ऑन किया और पुलिस ने उसपर शिकंजा कस दिया ।
अब पुलिस के हाथ सुरेश लग गया था पुलिस ने सुरेश को बहुत पिटा जिससे उसने जुर्म कबूल कर दिया ।
अब सबूत भी उसने खुद बना दिया था वो वीडियो जिससे वो जेल की सलाखों के पीछे जा फस गया ।
 अब सुरेश को रेप करने के लिए ओर ओर हत्या करने के आरोप में फाँसी की सजा सुनाई गई ।

crime alert story in hindi

अंजलि का परिवार पूरा टूट गया ।
दोस्तो किसी भी अनजान लोगों किचिकनी चुपड़ी बातो में नही आना चाहिए।
अनजान लोगों से सतर्क रहें।
जितनी जल्दी अंजलि ने सुरेश को अपना नंबर दिया उसने यह बिल्कुल ग़लत किया क़ की किसी भी इंसान को बिना जाने समझे कभी ऐसे अपना नंबर नही देना चाहिए ।
यदि आपको मेरी यह क्राइम स्टोरी पसंद आई हो तो शेयर ओर कमेंट जरूर करें।

हम क्राइम को कैसे काम करे ? अपना जबाब कमेंट में जरूर दे ।

Comments

Popular posts from this blog

mastram ki kahaniya : moral stories in hindi : लालच

Hindi fairy tales : वरदान देने वाली परी : fairy tales in hindi

Top 10 moral story in hindi : panchatantra ki kahaniya : story