रोमांचक कहानियां , सस्पेंस थ्रिलर स्टोरी । मर्डर की कहानी - hindi kahani

 रोमांचक कहानियां , सस्पेंस थ्रिलर स्टोरी । मर्डर की कहानी - hindi kahani


कभी जिंदगी में इसी घटना जरूर होती है , की हम एक गलती छिपाने के लिए कई गलतियां के बैठते है । ओर जब हम फस जाते है तो पता चलता है कि हमने कितनी बड़ी गलती कर दी ।


आज की कहानी इसी ही सस्पेंस से भारी एक कहानी है , जिसमे एक लड़की के माता पिता अपनी बेटी की गलती छिपाने के लिए कई गलतियां के देते है ओर बाद में उन्हें पता चलता है कि उनकी बेटी की कोई गलती थी ही नहीं ।

रोमांचक कहानियां ,  । मर्डर की कहानी - hindi kahani



सोनाली के माता वकील थी ओर सोनाली के पिता एक छोटी मोटी नोकरी करते थे ।

सोनाली के माता पिता ने प्रेम विवाह किया था  । जब तक सोनाली पैदा नहीं हुई थी तब तक तो सब कुछ ठीक था परंतु जब सोनाली पैदा हुई तो उसकी देखरेख करने में सोनाली के माता पिता में बहुत झगड़ा होने लगा ।


दिन बीतते रहे , सोनाली बड़ी हो गईं , सोनाली भी अपने माता पिता से बहुत प्यार करती थी , वह अपने माता पिता के साथ बहुत खुश रहती थी , परंतु सोनाली के माता पिता के छोटे छोटे झगड़े होते रहते इससे वह थोड़ी परेशान भी थी ।


कुछ साल बाद सोनाली के माता पिता के बड़ा झगड़ा हो गया उन्होंने अलग रहने की सोची , सोनाली के माता पिता की अब  बिल्कुल नहीं बनती थी  सोनाली ने माता पिता ने तलाक लेने का निश्चित किया ।


तलाक की बात से सोनाली की मानसिक स्थिति पर बहुत बुरा असर होने लगा । अब अब हमेशा परेशान रहती ।

तलाक की वजह से सोनाली को कभी अपने पिताजी के पास रहन पड़ता तो कभी  मां के पास ।

सोनाली बहुत परेशान रहने लगी । पा अब कुछ ऐसा हुआ कि जिससे उनकी जिंदगी में सुनामी आ गया ।


एक बार जब सोनाली कि अपने पिताजी के साथ रहने के बारी थी तो , सोनाली के पिताजी सोनाली को लेने गए , अब आते हुए रास्ते में सोनाली की एक सहेली भी मिल गई   ।


सोनाली के पिताजी ने कहा कि चलो बेटा में तुम्हे घर छोड़ दूंगा , तो सोनाली के पिताजी सोनाली ओर उसकी सहेली को लेके आने लगे ।


अब रास्ते में एक जंगल था , सोनाली ओर उसकी सहेली को लघु शंका लगी ।

सोनाली ने पिताजी को कहा कि हमें , टॉयलेट जाना है तो सोनाली के पिताजी ने गाड़ी रोकी ओर कहा को जाओ ओर जल्दी आना ।


अब क्या था बहुत समय बीत गया , सोनाली ओर उसकी सहेली अाई नहीं , सोनाली के पिताजी परेशान हो गए ।

सोनाली के पिताजी उसे ढूंढने जंगल में घुस गए , अब उसके पिताजी बहुत परेशान थे कि बच्चे गए तो गए कहा ।


सोनाली के पिताजी जंगल में बहुत अंदर घुस गए पर कोई नहीं मिला , अब अचानक चिलाने की आवाज अाई , यह आवाज सोनाली की थी ।


सोनाली के पिताजी बहुत डर गए वे दौड़े दौड़े जंगल में एक पुल में आ गए ।

सोनाली पुल पर खड़ी थी ओर नदी में देख कर चिल्ला रही थी। 

सोनाली के पिताजी भाग के पुल के पास गए और नीचे देखा पुल के नीचे सोनाली कि सहेली का बैग गिरा था । 

सोनाली के पिताजी बहुत डर गए अब उन्हें लगा कि उसकी सहेली नदी में गिर गई , सोनाली के पिताजी अब उसकी सहेली को देखने  नदी में गए ।

बहुत देखा बहुत ढूंढ लिया ओर सोनाली की सहेली का कोई पता नहीं चला । अब सोनाली के पिताजी बहुत डर गए वह बैग लेकर आ गए । 


अब सोनाली को लेकर घर जाने लगे । जब सोनाली ओर उसके पिताजी कार में थे तो तभी सोनाली ने कहा कि उसे मैने ही धक्का दिया था । अब सोनाली के पिताजी की सांसे रूंक गई वह बहुत डर गए ।


अब उनके समझ में कुछ नहीं आ रहा था । सोनाली के पिताजी घर से दोबारा वापिस जंगल आ गए ओर सोनाली की सहेली को ढूंढ ने लगे उन्होंने पूरी नदी छान मारी पर कोई नहीं मिला ।


सोनाली के पिताजी डर गए की सोनाली ने किसी का खून कर दिया , अब वह परेशान लगने लगे । उन्होंने उसकी सहेली का बैग जंगल में फेंका ओर घर आ गए ।


अब उनकी इतनी हिम्मत नहीं हुई की बेटी से पूछा जाए कि उनसे ऐसा क्यों किया। 

अब उसके पिताजी बहुत परेशान रहने लग गए । अब उसके पिताजी सोनाली की मा से मिले ओर सारी बात उसे बताई ।

अब दोनो अपनी बेटी को इतनी बड़ी मुसीबत में देख के एकजुट हो गए ।


क्योंकि भले उनमें झगड़े थे परंतु उनकी बेटी की मुसीबत ने उन्हें फिर से एक जुट कर दिया। 

अब सोनाली अपने माता पिता को साथ देख के बहुत खुश रहने लगी , ओर उसके माता पिता डर से पागल हो चुके थे ।

अब एक ओर मुसीबत आना बाकी था । सोनाली की सहेली जब मिली नहीं , उसकी सहेली के पिताजी  मंगलू ने पूछताज शुरू की पुलिस केस भी के डाला ।

बेटी को हर जगह ढूंढ लिया पर बेटी कही नहीं मिली ।अब  पुलिस पूछताछ करने के लिए सोनाली के घर आ गई ।

सोनाली के माता पिता तो डर से पागल हो गए पर सोनाली बहुत खुश थी । जब पुलिस ने कहा कि क्या उसे पता है की वह लड़की कहा है तो सोनाली ने साफ ना बोल दिया ।


सोनाली के चहरे पर झूट बोलने पर भी शर्मिंदा होना के कोई  निशान नहीं थे ऊपर से ओर भी ज्यादा खुश थी । यह देख कर उसके माता पिता पागल हो रहे थे कि इसने एक मर्डर के दिया परंतु यह इतनी खुश है क्यों ?

क्या यह पागल है ?

अब मंगलू भी अपनी बेटी का पता करने सोनाली के घर गया , जब सोनाली से पूछा  कि उसने मेरी बेटी को देखा तो सोनाली ने फिर से साफ मना किया ओर अंदर जाके हसने लगी ।

यह सब सोनाली के माता पिता देख रहे थे ,  वह दोनो बहुत घबराए हुए थे परन्तु सोनाली को खुश देख कर वह ओर भी परेशान हो गए ।


एक तो सोनाली ने मर्डर कर दिया उपर से यह खुश है क्या यह पागल हो गई है। यह बात उन दोनों को ओर भी पागल कर रही थी।


अब मंगलू को उसकी बेटी का बैग ओर फोन मिल गया। 

लास्ट कॉल देखा तो वह सोनाली का था , जब पता चला कि सोनाली के पिताजी उसे अपने साथ लाए तो उस बात ओर मंगलू गुस्से में सोनाली के घर गया ओर धमकी दी कि मेरी बेटी कहा है ।


तुमने मेरी बेटी के साथ क्या किया ? मै अब पुलिस के पास जा रहा हूं ।

यह सब सुन कर भी सोनाली हस रही थी। अब सोनाली के माता पिता ने उसे घर से भागने का प्लान बनाया उन्होंने जल्दी से समान पैक किया ओर सोनाली को लेके भागने लगे ।

गाड़ी की स्पीड इतनी थी कि रस्ते में चल रहे मंगलू को भी कुचल डाला।  अब जब पता चला कि यह मंगलू है तो उनकी ओर ज्यादा हालत खराब हो गई। 

गाड़ी पर खून ही खून लगा था , उन्होंने मंगलू की लाश को गाड़ी में डाला ओर वापिस घर आ गए ।


रोमांचक कहानियां , सस्पेंस थ्रिलर स्टोरी । मर्डर की कहानी - hindi kahani

अब वह ओर भी परेशान हो गए की यह क्या हो गया।  दूसरे दिन सोनाली की सहेली वापिस आ गई ।

अब सोनाली के माता पिता ओर पागल कि  यह तो जिंदा है ओर उसे मरा सोच कर उनकी बेटी को बचने के लिए हमने सच में उसके पिताजी को मार डाला ।

अब वह दोनो समझ गए जी गलती उनकी बेटी की नहीं उन्हीं की है , उन्होंने पहले ही अपनी बेटी से पूरी बात नहीं पूछी ओर उसकी गलती छिपाने की कोशिश की , ओर उसी कोशिश में उससे भी बड़ी गलती कर बैठे ।

दोस्ती आपकी कहानी कैसी लगी कमेंट में जरूर लिखे।  

ओर अगर इसी ही सस्पेंस थ्रिलर से भरी कहानी पढ़ना चाहते है तो ब्लॉग को फॉलो करना ना भूले ।

कहानी को अपने दोस्तो के साथ भी शेयर करे। 


Post a Comment

0 Comments