Best suspense thriler stories - psycho killer - allstory

Best suspens thriler stories - psycho killer - 

Best suspens thriler stories - psycho killer , crime stories in hindi, crime alert ki story


 शहर में एक के बाद एक हत्या हो रही थी , पुलिस हत्याओं कि छान बीन के रही थी परंतु पुलिस के हाथ कोई भी सबूत नहीं लग रहा था ।

जब तक पुलिस के हाथ कोई सबूत लगता तब तक शहर में दूसरी हत्या हो जाती ।

शहर में आतंक का माहौल था , पुलिस , सीबीआई , cid सारे जासूसी संघठन केस की गुत्थी सुलझाने में लगे थे  

परंतु सभी के हाथ सिर्फ अभी तक नाकामयाबी ही लगी ।

यामिनी क्राइम ब्रांच की सबसे होनहार ऑफिसर थी इसी लिए अब यह केस यामिनी को सौंप दिया गया ।




शहर में अभी तक जितनी भी हत्या हुई थी उन सभी हत्याओं में बस एक ही कॉमन प्वाइंट था , की जितनी भी हत्या हुई वो सभी 18साल से 25 साल की लड़कियों कि ही हुई थी ।


सभी हत्याओं का तरीका भी एक जैसा था । सभी लड़कियों को एक ही प्रकार के   ड्रग से  बेहोश करने के बाद उनका शारीरिक शोषण करने के बाद , उनके  जिंदा शरीर को पेट्रोल से आग लगा कर  , आधी जली स्थिति में ही  शहर के नालो , तालाबों में फेंका जा रहा था ।


इन हत्याओं ने पूरे शहर की नींद चुरा ली थी लोग अपनी लड़कियों को  घर से बाहर भेजने में भी घबरा रहे थे ।

यामिनी के लिए यह एक परीक्षा कि घड़ी थी , यमिनी के पास  हत्याओं का पता करने के लिए बस एक सुराग था ओर वह था ड्रग ।

जिस ड्रग का इस्तेमाल हत्यारे ने किया था उसका नाम था क्लोरोफॉर्म  

 क्लोरो फॉर्म सामान्य रूप से बाजार में नहीं मिलता तो हत्यारे के पास क्लोरोफॉर्म कहा से आया ।पुलिस ने अब सभी मेडिकल शॉप पर हॉस्पिटल में 


छान बीन करना शुरू कर दिया परंतु इतने छोटे सुराग से हत्यारे का पता करना बहुत ही मुश्किल था। अब यामिनी ओर उसकी टीम ने   सभी हत्याओं के बीच   के संबंध  , कोई कॉमन पॉइंट को ढूंडना शुरू कर दिया  ।

सभी लड़कियों एक ही कॉलेज कि थी  परंतु  सभी लड़कियां एक दूसरे को इतना अच्छी तरीके से नहीं जानती थी ।

क्राइम ब्रांच के लिए भी यह केस एक अनसुलझी गुत्थी बन रहा था।  पुलिस भी पूरी तरह ए कतिल की तलाश में थी ।

 क्राइम ब्रांच को शक था कि कातिल हो ना हो कॉलेज  का ही कोई लड़का है परंतु वह कौन है इसका खुलासा होना बहुत ही मुश्किल दिख रहा था ।


जिन भी लड़कियों की हत्या हुई पुलिस ने उनके घर की छानबीन की , सभी आने जाने वाली कॉल कि चेक किया , लड़कियों के रूम को अच्छी तरह से चेक किया , अब लड़कियों के फ्रेंड सर्किल में पता किए।


लड़कियो के ब्वॉयफ्रेंड से भी पूछताछ की परंतु उन्हें भी कुछ नहीं पता था ।सभी लड़कियों के ब्वॉयफ्रेंड ने पुलिस की पूछताछ के दौरान बताया कि उनकी अपनी गर्लफ्रेड से एक दिन पहले ही झगड़ा हो गया था जिस वजह से उन्हें कुछ खबर भी है ।

This is the Best suspens thriler stories - psycho killer stores in hindi

सभी ने जब यह बात बताई तो  क्राइम ब्रांच  की एक ओर मौका मिला कातिल को पकड़ने का ।कातिल लड़कियो के अपने बॉयफ्रेंड से लड़ाई हो जाने का फायदा उठा रहा था ।  परंतु केस अभी सुलझा नहीं था ।







दूसरी तरह आज फिर कॉलेज में एक कपल  शांति ओर सागर  झगड़ा हो गया , यह बात  क्राइम ब्रांच को भी पता चल गई ।

अब यामिनी ओर उसकी टीम   सिविल ड्रेस में  उस शांति के पीछा करने लगी ।यामिनी को शक था कि शांति के साथ भी ऐसा हो सकता है 


अभी शांति  को कोई भी भनक नहीं लगी थी कि कोई उसका पीछा कर रहा है । शांति सड़क पर अपनी घर कि ओर जा रही थी तभी चौराहे में उसके पास एक गाड़ी आ कर रुकी , शांति गाड़ी में बैठ गई ।


यामिनी भी गाड़ी से शांति का पीछा कर रही थी ।   गाड़ी सीधे शांति के घर के सामने रुकी ओर शांति गाड़ी से उतर के अपने घर चली गई ।यामिनी के हाथ से यह मौका भी निकाल गया  , रात हो चुकी थी। 


शांति के घर से पुलिस स्टेशन कॉल आया  , की शांति लापता है । अब  यह बात  यामिनी को पता चली यामिनी ओर उसकी टीम  मौके पर शांति के घर आ गई ओर पूछता करने लगी ।


शांति की मां ने बताया की शांति शाम के समय किसी काम से बाहर गई थी परंतु  अभी तक लौटी नहीं है ओर हमे अब चिंता हो रही है । यामिनी  ने तुरंत शांति के फोन नंबर के ट्रेस करवाया , शांति का फोन शहर के बाहर एक कारखाने की लोकेशन दिखा रहा था ।


शहर में तुरंत सभी पुलिस वालो को अलर्ट के दिया गया ।

पुलिस भी शहर में गस्त लगाने लगी ।क्राइम ब्रांच  की टीम अब तक कारखाने में आ गई । यामिनी ओर उसकी टीम ने  कारखाने कि घेरना शुरू कर दिए अब कारखाने में कोई नहीं दिख रहा था ।


अब अचानक एक चिल्लाने की आवाज अाई सभी  आवाज कि तरफ दौड़े , जब कातिल ने किसी के आने की आवाज सुनी तो वह घबरा गया उसने तुरंत चाकू से शांति के गले पर वार किया ओर भाग गया ।

 





यामिनी की टीम शांति को हॉस्पिटल  ले गई ओर यामिनी कातिल की तरफ भागी ,  कातिल तुरंत झाड़ियों के रास्ते से जंगल में घुसा ओर लापता हो गया ।


यामिनी के हाथ फिर से हार लगी । कातिल हाथ में आने से पहले ही निकाल गया ।

अब यामिनी तुरंत हॉस्पिटल आ गई , शांति का बहुत खून निकल चुकी था परंतु डॉक्टर उसकी जान बचा ली थी , शांति कोमा में चली गई ।


पुलिस के हाथ फिर से एक हार लगी । 

शहर में पूरी नाकाबंदी के दी गई सभी गाड़ियों कि तलाशी ली गई । कातिल कोन है कहा है किसी को नहीं पता था ।


सायको किलर जब  अपना एक शिकार खो देता है तो उसका मानसिक संतुलन ओर भी बिगड़ जाता है ।

ओर अब यह ही हुआ ।

जब  किलर शांति को ना मार पाया तो वह अपना गुस्सा  उतारने यामिनी के घर गया ।


जब शाम को छुट्टी के बाद  यामिनी घर गई ओर वहां टेबल पर एक खून से सना चाकू रखा था ओर एक खून से सना किसी बच्ची का कपड़ा रखा था ।


यामिनी की तो कोई बेटी नहीं है यानिनी तुरंत अपने पड़ोसी के घर गई वहां देखा तो उसकी आंखे खुली की खुली रह गई ।


यामिनी के पड़ोसी में एक फैमली के 4 सदस्यों की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी ।खून से सना कपड़ा उनकी बेटी के था  ।


बच्ची की मां का शारीरिक शोषण भी किया गया  था ।

बच्ची के पिताजी ओर दादा जी का चाकू से गला रेंद कर हत्या कर दी गई थी ।

यामिनी ने पुलिस को  बुलाया ओर सभी कि डेड बॉडी  पोस्टमार्टम  के लिए भेज दी ।

फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम घर में सुराग ढूंढ ने में लग गई ।

परंतु बाल ओर जूते के निशान के सिवाय कुछ ना मिला ।

 टेबल पर खून से लिखा एक खत था जिसपर लिखा था , मेरे रास्ते में जो भी आएगा उसका यह ही अंजाम होगा। यामिनी का दिल इतनी बेरहमी से हो हुई मौत को देख कर सहम गया वह रोने लगी  ।

अब न्यूज रिपोर्टर वाले भी पुलिस ओर क्राइम ब्रांच की टीम ओर उंगलियां उठाने लगे ।


फोरेंसिक रिपोर्ट जब अाई तो पता चला कि कातिल करीब 28 साल का इंसान है परंतु कातिल को पकड़ने के लिए यह काफी नहीं था । कातिल  को देखते ही सूट एट साइट   डालने का ऑर्डर निकल  गया ।


अभी तक किसी ने कातिल को देखा नहीं था तो सूट करे तो करे किसे । केस पुलिस  के लिए एक मिस्ट्री  बन चुके थे ।

परंतु अभी तक  यामिनी ने हार नहीं मानी थी ।या ओर उसकी टीम केस को सुलझाने में लगी थी

कई पुलिस वाले सिविल ड्रेस में कॉलेज में घूम रहे थे ओर हर एक संदिग्ध हरकतों पर नजर रख रहे थे ।स हत्याओं कि फाइल को स्टडी करने के बाद  अब क्राइम ब्रांच के पास एक ठोस सबूत हाथ लगा ।


वह गाड़ी जिसमे शांति बैठ कर गई थी । वह गाड़ी थी  कॉलेज के एक प्रोफेसर दिनेश की । जब दिनेश से पूछताछ की गई तो दिनेश ने कहा कि मैने शांति को सिर्फ घर तक लिफ्ट दी थी ।


परंतु सभी लड़कियो को  लास्ट दिन एक ही गाड़ी द्वारा लिफ्ट दी गई थी। ओर वह गाड़ी थी दिनेश कि पुलिस का शक दिनेश की ओर था ।

 परंतु कोई ठोस सबूत ना होने की वजह से उसे जो गिरफ्तार नहीं कर सकता था ।अब यामिनी के अपनी टीम में से एक को दिनेश के पीछे लगाया , अब दिनेश कि पूरी हिस्ट्री निकालने पर जोर दिया जा रहा था ।


दूसरी तरफ अब फिर से  कॉलेज में एक कपल अंजली ओर विशाल का आपस में झगड़ा हो गया ।यामिनी ओर उसकी टीम फिर ए अंजली को चुपके से फॉलो करने लगे ।


एक क्राइम ब्रांच ऑफिसर  दिनेश की छानबीन कर रहा था परंतु आज अंजली को कोई लिफ्ट नहीं दी गई ।


रात तक पुलिस अंजली के घर के चारो ओर गस्त लगा रही थी ।तभी अचानक लाइट बंद हुई , करीब 10 मिनट में   जरनेटर चालू किए गया ।


लाइट जलते ही देख तो अंजली घर से लापता है ।

पुलिस की आंखो के समाने से अंजली को किडनेप के दिया गया । अब यामिनी के टीम   मेट का कॉल आया ओर पूरी कहनी सुन कर यामिनी के होश उड़ गए ।


यामिनी तुरंत दिनेश के घर गए वहां कोई नहीं था पर  गाड़ी बाहर खड़ी थी ओर वह थोड़ी देर  पहले ही बंद कि गई थी इस वजह से  गाड़ी के इंजन की आवाज आ रही थी ।


यामिनी को शक हुआ कि कुछ तो गड़बड़ है ।  यामिनी ओर उसकी टीम घर में घुस गई छानबीन कि गई कुछ नहीं मिला पर कुछ तो था जो किसी को नहीं दिख रहा था ।

कारपेट के नीचे एक बेसमेंट का रास्ता है ।

यामिनी ओर उसकी टीम चुपके से  बेसमेंट में घुस गई ओर दिनेश को रंगे हाथो पकड़ दिया ।दिनेश अंजली का शारीरिक शोषण करने की कोशिश कर रहा था ।







अब पुलिस ने दिनेश को बुरी तरह से पीटा अंजली को सही सलामत हॉस्पिटल में ले जाया गया ।


End of Best suspens thriler stories - psycho killer stories in hindi

अब दिनेश से पूछताछ शुरू हुई ।अब दिनेश ने अपनी कहानी सुनाई। 

करीब 5 साल पहले दिनेश कि गर्लफ्रेंड ने भी दिनेश से झगड़ा कर दिया था ओर दिनेश  के लाख मानने के बाद भी वह वापिस भी अाई , कुछ दिनों बाद दिनेश कि गर्लफ्रेंड का किसी ओर के साथ रिलेशनशिप बन गया जिसके सदमे से दिनेश का मानसिक संतुलन बिगड़ गया ।


इसी वजह से दिनेश जब भी किसी कपल जोड़े को लड़ाई करते देखता तो उसे अपने प्यार की याद आती तो वह उस लड़की को उठा के इतना टॉर्चर करता  जितना वह अपनी गर्लफ्रंड को करना चाहता था । ओर धीरे धीरे वह उसकी आदत बन गई । इसी वजह से उसने कई लड़कियो का मर्डर कर दिया। 


जब यामिनी को यह पता चला तो उसे बहुत गुस्सा  आ गया यामिनी ने तुरंत बंदूक निकाल कर दिनेश को शूट कर दिया ।अगले दिन न्यूज में खबर अाई की दिनेश नाम का सायको किलर पुलिस से झड़प के दौरान मरा गया ।


अब शहर की सारी लड़कियां सुरक्षित थी ।सरकार द्वारा यामिनी की टीम को पुरस्कार दिया गया ।


मुझे उम्मीद है कि आपको यह सायको किलर की कहानी पसंद आएगी। कहानी को अधिक से अधिक शेयर करे ओर हमे  फॉलो करना ना भूले ।

कहानी अच्छी लगे तो कमेंट में जरूर बताए ।

Read more stories 

Post a Comment

0 Comments