Mastram ki kahani - अवैध सम्बन्ध

 Mastram ki kahani- अवैध सम्बन्ध

  Mastram ki crime story in hindi 

Mastram ki kahani , mastram ki kahnai ,mastraam ki kahaniya , mastram story


 मतलव जब कोई इंसान बिना किसी रिश्ते के के किसी लड़की या लड़के से शारीरिक सम्बन्ध बनता हे तो इसे हम अवैध सम्बन्ध कहते हे। 

Mastram story in hindi

Mastram ki kahaniya - अवैध सम्बन्धो के कारण तबाह हुआ परिवार

एक महिला का पति जब घर से बहार गया तो उसने अपने इस आशिक को कॉल किया और कहा तुम जल्दी जल्दी आ जाओ मेरे पति घर पर नहीं हे और अब वो दो दिन बाद आयेंगे और हम दो दिन तक खूब मजे करेंगे। 


कुछ समय बाद उसका आशिक आ गया , और उस शादी शुदा औरत को अपनी बाहो में उठाकर कमरे में ले जाने लगा , तभी डोर की रिंग बजी। 


अब कोण आया होगा ,उस औरत ने उस लड़के को अपने आशिक को अपने बैडरूम में भेज दिया।  जब दरवाजा खुला तो उसका पति सामने था , और वो सीधा अंदर गया , औरत ने उसे बहुत रोकने की कोशिस की पर वो नहीं रुका , और अंदर आ गया ,वहां पर उस औरत का आशिक था 


जिससे वहां मार पिट हुई और उस औरत ने और उसके आशिक ने अपने पति को मरने की कोशिस की परन्तु टब तक पुलिस गई और दोनों को रंगे हातो पकड़ लिया। 

Mastram story in hindi - allstory

अब इस छोटे से सार को पढ़कर आपके दिमाक में ये ख्याल आ रहा होगा की यो कोण था , जब उस औरत का पति था तो उसके अवैध सम्बन्धो की की जरुरत थी ? 

तो आइए हम आपके इस शक को भी दूर करे ,

परन्तु इस mastram   Crime Story in Hindi को पढ़ने से पहले कृपया शेअर जरूर करे। 

 Mastram hindi  story-अवैध सम्बन्ध 

 about this story 

यह कहानी एक औरत के अवैध सम्बन्धो की और इसरा करती हे जिनके चलते उस औरत ने अपने पूरे परिवार को देखा दिया और उसी इस हरकत की वजह से एक लड़की ने आत्म हत्या कर दी. 


दिल्ली शहर में की लड़का राकेश रहता था उसकी छोटी बहिन महिमा , और उसके पिताजी सूरज सिंह था। उसके पिताजी और बहिन गांव में रहते थे , और राकेश, दिल्ली में एक नौकरी करता था।  


राकेश उम्र शादी की हो गहि थी , जिससे उसके पिताजी उसकी शादी के लिए उसके लिए लड़की ढूंढ रहे हे।  

रीता भी गावं में रहती थी दिखने में सूंदर थी परन्तु उसका चरित्र खराब था। उसकी भी शादी की उम्र थी जिससे राकेश की शादी रीता से तय हो गई , रीता के माता पिता की मौत एक सड़क हादसे में हो गहि जिससे उसके चाचा उसकी परिवरिश करते थे , उसकी भी अपनी बेटी और बीटा था , चाचा रीता पर ज्यादा ध्यान नहीं देते।  



 जब राकेश की शादी रीता से तय हुई टी राकेश के पिताजी ने बिना किसी छान बिन के शादी तय ककर दी जिससे राकेश की जिंदगी खराब ही गई आओ हम आपको बताते हे की कैसे राकेश की जिंदगी कैसे खराब हुई। 


राकेश ओर रीता हो गई इसी लिए राकेश के पिता ोे बहन भी दिल्ली आ गए थे कुछ दिनों के लिए।  अभी शादी को सिर्फ कुछ महीने ही हुए थे परन्तु शादी में कुछ नई ों नहीं था ना कोई प्यार ना कोई रोमांस , राकेश को इसका कोई पता नहीं था और वो सोचता था की इसी वजह से नई नई शादी होगी कुछ समय बाद सुब ठीक हो जाएगा ऐसी उम्मीद लगाए राकेश बैठा था। 



अब रीता की जिंदगी अलग कहानी चल रही थी , और वो कहानी कुछ इस तरह थी , रीता का प्रेमी अजय जिससे रीता प्यार करती थी थी , और कई दिन उसके साथ भी चुकी थी,इसका पता महोल्ले में सब पता था परन्तु जब राकेश पिताजी सूरज सिंह कुछ छान बीन नहीं तो उसका पता किसी को नहीं चला और ये ही राकेश की जिंदगी को बर्बाद कर बैठा। 

 


राकेश के पिताजी तो चले गए परन्तु बहन नहीं गई , अब रीता को अजय से मिलने का मौका नहीं मिल रहा था , राकेश की बहन महिमा जब देखो रीता के साथ रहती। 



 रीता के दीमाक में साजिश चल रही थी ,और वो अजय के साथ रहना चाहती थी और अपने राकेश के धन सम्पति के सुखको नहीं छोड़ना चाहती थी। इसके लिए अजय और रीता ने एक बीच का रास्ता बनाया जो उनकी जिंदगी को क्राइम की शुरवात पर ले गया। 


महिलाओं से लड़कियों से छेडखानी करना एक भीषण crime अपराध है ओर इसके लिए सरकार ने कई एंटी रोमियो सकॉट भी बनाये है ।


एक दिन रीता ने महिमा को सब्जी लेने बाजार भेज जो कि एक सोची समझी साजिश थी । बाजार में कुछ गुण्डे किसम के लड़कों ने महिमा के साथ छेड़खानी की उसे तंग करने लगे । 

अब समय पर अजय ने आकर महिमा को बचा लिया

 

जिससे ।महिमा के दिल मे थोड़ी सी जगह बन गई। अब अजय ओर महिमा रोज मिलने लगे और उनकी दोस्ती प्यार से बदल गया । वैसे तो महिमा का प्यार था परंतु अजय की ओर रीता की एक साजिश थी । जिसमे महिमा ओर राकेश पूरी तरह फसाने वाले थे। 



अब सोची समझी साजिश के अनुसार अजय ओर महिमा के रिश्ते की बात चलने लगी । ओर सभी राजी हो गए । 

अब फिर से वो ही गलती दोहराई गई बिना कुछ छान बिन किये हुए ही महिमा ओर अजय की शादी हो गई और राकेश ओर उसकी बहन महिमा की ज़िंदगी बर्बाद हो गई ।

दोनों की शादी हो गए और अब रीता अजय दोनों एक ही घर मे हो गए । 

दोनों का अलग ही प्रसंग चल रहा था । 

कुछ महीने बीत गए । 


एक दिन जब राकेश घर मे नही था तो अजय रीता के कमरे में घुस गया । ये देख महिमा को शक हुआ और वो आवाज सुनने लग गई कि क्या हो रहा है । 


जब महिमा ने उनके सारे किस्से सुने ओर से बहुत गुसा आ गया अब उसने दोनों को आपस मे लिपटे हुए रंगे हाथों पकड़ लिया ।

वो सब कुछ अपने भईया को बताने के लिए कॉल कर ही रही थी तब तकदोनो ने महिमा पर हमला कर दिया । भागते हुए महिमा सीढियो आए नीचे गिर गई जिससे उसकी मौत हो गई । रीता ने तुरंत एम्बुलेंस को फोन किया और राकेश को भी बुला लिया ।


जिससे सब को यह एक दुर्घटना लगी । 

राकेश ने महिमा का अंतिम संस्कार किया , ओर उसकी अस्थियां वो अब गंगा में विसर्जीत करना चाहता था । इसी लिए उसे अपने गाँव जाना था । 

उसने पूरी तैयारी कर ली । 


Mastram ki kahaniya in hindi 

वो बाजार गया तो उसके कान कुछ ऐसी खबर लगी कि उसके दिल टूट गया और उसे बहुत गुसा आ गया । । उसने बाजार में रीता ओर अजय को बहो में बहे डाले देखा । 

अब उसे सब कुछ समझ आने लगा । 

अब चाल चलने की बारी राकेश की थीं । और उसने एक प्लान बनाया उसने घर पर कहा कि में बहन की अस्थि विसर्जन के लिए वाराणसी जा रहा हूँ ।।। और सुबह होते ही निकल गया ।

 रीता उसे बाहर छोड़ने आई राकेश चला गया । और रीता ने अजय को फोन किया कि आ जाओ वो चला गया अब 2 दिन खूब मजे करेंगे । 

अजय भी आ गया । जैसे ही अजय रीता को अपनी बाहों में उठा कर बैडरूम ले जा रहा था । तभी डोर की बेल भी दोनों डर गये । 

रीता ने अजय को अंदर भेज दिया । और दरवाजा खोला देखा तो राकेश था । रीता ने राकेश से पूछा कि क्या हुआ ।

तो राकेश ने कहा कि ट्रेन छूट गई । तब वो अंडर जाने लगा । पर रीता ने रोकते हुए कहा कि पिताजी को पता है कि तुम नही आ रहे, राकेश ने बोलकर अंदर चला गया । 

Mastram story in hindi

अब अंडर अजय बैठा था । राकेश को गुस्सा आ गया कि वो हमारे बैडरूम में कई कर रहा है । जिससे उनमे हटा पाई हो गई उन दोनों ने सच उगल दिया और राकेश को जान से मारने की कोशिस की । परंतु तब तक पुलिस को लिये राकेश के पिता आ गये ओर दोनों को रंगे हाथों पकड़ लिया । 

दोनों को उम्र कैद की सजा हो गई और राकेश की जिंदगी तबाह हो गई अब उसके पिताजी ओर वो दोनों ही बच गये । ओर छोड़ कर शहर में ही रहने लगे । 

End of mastam crime  story in hindi

दोस्ती इस अपराध में सबसे ज्यादा गलती राकेश के पिताजी की भी थी क्योंकि 

उन्होंने शादी से पहले बिल्कुल भी छान बीन हि नही की ।ओर शादी kra दी. शादी विवाह ke मामले मे पूरी तरह से छान बिन करना bohut जरूरी होता हे.

 दोस्तों यदि आपको मेरी यह . Mastram क्राइम स्टोरी पसंद आई हो तो कहानी को शेयर अवश्य करें और कमेंट में जरूर बताएं कि हम क्राइम को कैसे कम या रोक सकते हैं धन्यवाद

Read more stories 

Post a Comment

0 Comments